खूबसूरती गर्दन की

0
346

वैसे तो प्रत्येक स्त्री अपनी खूबसूरती का पूरा ध्यान रखती हैं। चेहरे का बहुत ध्यान रखने के बावजूद अपनी गर्दन पर उतना ध्यान नहीं दे पाती जितना देना चाहिए। चेहरे के साथ-साथ गर्दन की सफाई भी बहुत जरूरी है।

स्वच्छता की कमी से गर्दन काली पड जाती है या फिर लगातार सूर्य के सम्पर्क में आने के कारण गर्दन सनटैन हो जाती है जिस कारण गर्दन काली पड जाती है। जिनको पसीना अधिक आता है गर्दन काली पड जाती है। अधिक पसीने से युरिक ऐसिड उत्पन्न होता है जिस कारण गर्दन गरदन काली पड जाती है।

इसलिए अक्सर यही कहा जाता है कि जब भी आप फेस पैक लगाएं गर्दन पर जरूर लगाएं। गर्दन काली हो जाने पर स्क्रब इस्तेमाल करें और मालिश करें और फिर पैक का इस्तेमाल करें।

भीगे हुए बादाम को दूध की सहायता से पेस्ट बना कर गर्दन पर लगाएं, ये पेस्ट स्क्रब का काम करेगा।
स्क्रब के लिए दरदरा ओटमील में बना लें और इसमें एक टुकडा टमाटर का मसल कर मिला कर गर्दन पर सप्ताह में एक बार स्क्रब करें।
स्क्रबिंग के लिए दहीं में अखरोट का पॉउडर मिला कर लगाया जा सकता है।
बेसन में दहीं मिला कर गर्दन पर मलें।
चंदन का पॉउडर में गुलाबजल मिला कर गर्दन पर लगाएं इससे कालपन दूर होता है।
सप्ताह में एक बार नैचुरल ऑयल या क्रीम से गर्दन की मालिश करें।
बादाम के तेल से गर्दन की मालिश कर सकते हैं।
नींबू में गुलाबजल मिला कर रूई के फाये से गर्दन पर लगाएं 20 मिनट के बाद सादे पानी से धो लें। कुछ दिन तक यह प्रक्रिया जारी रखें।
जब कभी भी चेहरे पर पैक लगाएं तब गर्दन पर भी जरूर लगाएं।
सादा शहद चेहरे पर और गर्दन पर लगाएं और 15 मिनट के बाद ताजे पानी से धो लें।
आलु बलीचिंग का काम करता है इसलिए आलु के रस में नारियल का तेल मिला कर गर्दन पर लगाते रहना चाहिए।
आलु के एक टुकडे को गर्दन पर सप्ताह में एक बार धीरे-धीरे मलें।
ग्लिसरिन, नींबू और गुलाब जल को बराबर-बराबर मात्रा में मिला कर कांच की शीशी में रख लें। प्रति दिन रात को सोने से पहले चेहरे और गर्दन पर लगाएं। सुबह ताजा पाने से धो लें। या ½ घंटा लगा रहने दें और फिर ताजे पानी से धो लें।
आलु कलींजिंग का काम करता है आलु में स्टार्च होने के कारण ये रंगत को हल्का कर देता है।
खीरा को कस कर रस निकाल लें और रूई के फाहे की सहायता से गर्दन पर लगाएं और 15 मिनट बाद ताजे पानी से धो लें। अच्छे परिणाम के लिए सप्ताह में एक बार करे।
नींबू को इस्तेमाल करने के बाद जो छिल्का बच जाता है उसे काली गर्दन पर मलें। इसमें विटामिन सी होने के कारण ये कालेपन को हटा देता है।
अंडे को अच्छी तरह फैंट लें और गर्दन पर लगाएं। 15 मिनट बाद धो लें। इससे गर्दन पर कसाव आता है।
चोकर और दहीं मिला कर गर्दन पर लगाएं और 15 मिनट बाद धो लें। इससे गर्दन में कसाव आता है।
केले को मसल कर गर्दन पर मलें और कुछ समय के बाद धो लें और फिर ऑलिव ऑयल लगा लें।
गर्दन पर ऑलिव ऑयल की अच्छी तरह मालिश करें और 20 मिनट के बाद सादे पानी से धो लें।