लौंग डिस्टेंस रिलेशनशिप को कैसे बनाएं स्ट्रौंग

0
66

हर रिलेशनशिप को कभी न कभी किसी न किसी तरह लौंग डिस्टेंस में आना ही पड़ता है, कभी काम के सिलसिले में तो कभी पारिवारिक मसलों के चलते. यह डिस्टेंस कभी कभार कुछ हफ़्तों का होता है तो कभी महीनों और सालों का. लेकिन, परेशानी तब महसूस होती है जब पार्टनर्स इस डिस्टेंस के कारण अपनी रिलेशनशिप हैंडल नहीं कर पाते और उन्हें अपने रिलेशनशिप को खत्म करने की ज़रुरत महसूस होने लगती है. कई बार तो होता यह है कि 2 -3 साल की रिलेशनशिप भी 2 महीनों की दूरी से कमजोर पड़ जाती है. ऐसे में कपल्स को अपने लोंग डिस्टेंस रिलेशनशिप को बनाए रखने के लिए कुछ एफर्ट्स करने ही पड़ते हैं. बिना एफर्ट्स कोई भी लोंग डिस्टेंस रिलेशनशिप कारगर नहीं हो सकती.

रिया और विनय पिछले 16 महीनों से रिलेशनशिप में थे. वे दोनों एक ही कालेज में पढ़ते थे जहां रिया विनय की जूनियर थी और विनय उस का सीनियर. विनय दिल्ली में पीजी था और ग्रेजुएशन खत्म करने के बाद उसे वापस अपने घर आजमगढ़ लौटना था. रिया और विनय ने फैसला किया कि अब वे दोनों लोंग डिस्टेंस रिलेशनशिप में रहेंगे और जबतब विनय दिल्ली आया करेगा वे मिलेंगे.

विनय वापस अपने घर गया तो अपने घरवालों के बीच अपनी पढ़ाई में काफी व्यस्त रहने लगा. यहां दिल्ली में रिया का थर्ड ईयर चल रहा था. जब भी वह बाकी कपल्स को देखती तो विनय को याद करने लगती. रिया विनय को मैसेज करती तो उस का रिप्लाई कभी समय पर नहीं आता. कभी कभी तो विनय दो तीन दिन लगाकर रिप्लाई करता. विनय ने रिया को साफ़ बता दिया था कि उस के पापा बहुत स्ट्रिक्ट हैं और इसलिए उसे दिन भर अपने कौम्पिटिटिव एग्जाम के लिए पढ़ाई करनी पड़ती है जिस कारण वह फोन को हाथ तक नहीं लगा सकता. विनय कभी रिया को कौल तक नहीं करता. इतना सब तो रिया सह लेती लेकिन जब वह विनय को फेसबुक या इंस्टाग्राम पर एक्टिव देखती तो उस का खून खौल उठता.

रिया ने विनय से इन हरकतों का कारण पूछा तो विनय कहने लगा कि पापा हर समय घर ही होते हैं तो उन के सामने फेसबुक चला सकते हैं लेकिन गर्लफ्रेंड से बात नहीं कर सकते. विनय की रिया के प्रति इस उदासीनता ने रिया को यह रिलेशनशिप खत्म करने पर मजबूर कर दिया. उस ने विनय से ब्रेकअप कर लिया जिस का सब से बढ़ा कारण विनय का बदला हुआ व्यवहार और रिया के प्रति किसी भी तरह की जिम्मेदारी और एफर्ट का न होना था.

लोंग डिस्टेंस रिलेशनशिप में सब से महत्वपूर्ण है अपने पार्टनर को अनचाहा महसूस न कराना. माना आप दोनों साथ नहीं लेकिन इस का मतलब यह नहीं कि आप दूर होने की तकलीफ को भरने की जगह उसे बढ़ाते जाएं. निम्नलिखित कुछ ऐसे सुझाव हैं जिन के माध्यम से आप अपने लोंग डिस्टेंस रिलेशनशिप को बनाए रख सकते हैं.

कम्यूनिकेट करते रहें

रिलेशनशिप्स में कम्युनिकेशन बहुत महत्वपूर्ण है. आप के पार्टनर का दिन कैसा गया, उसे किसी बात का गम तो नहीं, उसे आज क्या क्या काम करने पड़े, दोस्तों के साथ कहां घूमे फिरे, कल क्या करने का प्लान है इत्यादि पूछना और बताना बहुत जरूरी है. यदि आप बात नहीं करेंगे तो आप दोनों के बीच की दूरियां गहराती जाएंगी, हां, इस बात का ध्यान रखें कि हर वक़्त सिर्फ बात ही न करते रहें, प्रेजेंट मोमेंट में जिएं. ऐसा न हो कि एकदूसरे से बात करने के चक्कर में आप अपने बगल में बैठे व्यक्ति को इग्नोर करते रहें.

पर्सनल स्पेस दें और सपोर्ट करें

एक दूसरे के पर्सनल स्पेस का ख्याल रखें और यदि वह कुछ नया करता है तो उसे सपोर्ट करें. ऐसा न हो कि आप का पार्टनर कुछ समय अकेला रहना चाहता है और आप उसे खुद से बातें करने के लिए कहते रहें. आप का पार्टनर यदि अपने लिए कोई नयी क्लास ज्वाइन करता है या कोई कार्य करता है तो उस में उसे सपोर्ट करें फिर चाहे आप को उन कार्यों में इंटरेस्ट न भी हो.

एकदूसरे को अपडेटेड रखें

लोंग डिस्टेंस रिलेशनशिप में पार्टनर्स का एकदूसरे के क्रियाकलापों के बारे में अपडेटेड रहना बहुत जरूरी है. आप ने नया टैटू बनवाया है, शौपिंग कर के आए हैं, औफिस, कालेज या घर में कुछ नया हो रहा है, आप ने कुछ अलग करना शुरू किया है या किसी नए व्यक्ति से मिले हैं, इन सब की जानकारी अपने पार्टनर को देते रहें. इस से आप दोनों को लगेगा कि आप अब भी एकदूसरे के पास हैं और किसी बात से अनजान नहीं हैं.

सिर्फ चैटिंग ही न करें

केवल चैटिंग करने से आप एकदूसरे के इमोशंस को अच्छी तरह नहीं समझ सकते. चैटिंग के अलावा वीडियो कौल, फोन कौल भी करें. जितना पौसिबल हो एकदूसरे से मिलते रहें. अगर महीनों तक नहीं मिल पाते तो कोई बात नहीं कम से कम हर दूसरे दिन कौल पर बात करते रहें. वीडियो कौल पर एकदूसरे के लिए गाने गाएं, ढेर सारी बातें करें और एक दूसरे को ऐसा फील कराएं जैसे आप दोनों पास हैं. अपने फेवरेट सोंग्स एकदसरे से शेयर करें, फिल्में देखें और उन पर चर्चा करें. सोशल मीडिया पर नया क्या हो रहा है इस बारे में बातचीत करें. रोमांटिक के साथ साथ फनी और सरकास्टिक चीज़ें भी शेयर करें.

छोटीछोटी बातों को अंडररेस्टीमेट न करें

रिलेशनशिप में छोटीछोटी बातों की बहुत बड़ी वैल्यू होती है. आप दोनों एक दूसरे से दूर भले हों लेकिन एकदूसरे को छोटीछोटी चीज़ों से खुश जरूर कर सकते हैं. आई लव यू जब तब कहते रहें, पार्टनर को कौम्पलिमेंट करें, तारीफ करें, कोई बात अच्छी लगती है तो उसे बताएं, सोशल मीडिया पर कमेंट करें, एकदूसरे को स्पेशल महसूस कराते रहें. हो सके तो एकदूसरे के लिए औनलाइन शोपिंग कर गिफ्ट्स भेजें, हाथ से लेटर्स और पोस्टकार्ड्स लिख कर भेजें. अपनी टीशर्ट या फेवरेट बुक एकदूसरे को भेजें.

परिवार और दोस्तों के बारे में बात करें

लोंग डिस्टेंस रिलेशनशिप में बहुत जरूरी है कि आप दोनों एकदूसरे से केवल एकदूसरे के बारे में ही बातें न करते रहें. एक दूसरे के परिवार और दोस्तों के बारे में बात करना भी जरूरी है. इस से पार्टनर को यह महसूस होगा कि आप उन से हर विषय पर बात कर सकते हैं और उन के जीवन में इम्पोर्टेंस रखते हैं केवल उन की रोमांटिक लाइफ में ही सिमटकर नहीं रह गए हैं.

सेक्सुअल डिजायर को बरकरार रखें

एक दूसरे के पास न होने पर पार्टनर्स सेक्सुअली फ्रीक्वेंट नहीं रह पाते. वे दोनों ही एकदूसरे को छूने के लिए और अपने पास महसूस करने के लिए तरस जाते हैं. जब वे किसी और कपल को अपने आसपास अंतरंग पल एंजोय करते देखते हैं तो अपने पार्टनर को हद से ज्यादा याद करने लगते हैं. ऐसे में बहुत जरूरी है कि आप दोनों अपनी सेक्सुअल डिजायर को बरकरार रखें और सेक्सुअली भी एक दूसरे से जुड़े रहें. सेक्सचैट करें, रोमांटिक बातें करें, फ़ोन पर एकदूसरे को बताएं कि जब भी आप मिलेंगे तो क्या करना पसंद करेंगे इत्यादि. एकदूसरे से मिलने पर रोमांस और सेक्स को महत्वता दें.

भरोसा बरकरार रखें

पार्टनर्स का लोंग डिस्टेंस रिलेशनशिप में इनसेक्योर होना आम है. ऐसे में बहुत जरूरी है कि आप दोनों एकदूसरे को यह यकीन दिलाएं कि आप उन्हें चीट नहीं कर रहे और न कभी करेंगे. लोंग डिस्टेंस रिलेशनशिप में पार्टनर आसानी से चीट कर सकता है इसलिए कोई मौका हाथ लगे तब भी चीट न करें. यदि आप अपने पार्टनर को छोड़ना चाहते हैं तो बेशक ब्रेकअप कर लें लेकिन कभी चीट न करें, उसे धोखा न दें. भरोसा बनाए रखने के लिए किसी भी नए व्यक्ति से मिलें तो अपने पार्टनर को उस के बारे में बताने से झिझके नहीं, अपने पार्टनर को जलाने की कोशिश न करें, कभी चीट करते हैं तो अपने पार्टनर को साफसाफ बता दें. जितना भरोसा आप चाहते हैं कि आप का पार्टनर आप पर करे उतना ही आप भी उस पर भरोसा करें.

इमोशनली एकदूसरे के लिए अवेलेबल रहें

किसी भी रिलेशनशिप में फिजिकल से ज्यादा इमोशनली अवेलेबल होना जरूरी है. आप का पार्टनर किसी चीज़ को ले कर परेशान है तो उसे उस के हाल पर छोड़ देने के बजाए पूछें कि आखिर हुआ क्या है. आप दोनों की लड़ाई हो तो अपने अहंकार को हवा देने की बजाए प्यार को महत्त्व दें और बात करें. इमोशनली कनेक्टेड रहना बहुत जरूरी है.

हमेशा शिकायत करते न रहें

अपने पार्टनर से उस के दूर होने पर हर समय शिकायत करने की बजाए उस के दूर होने के कारण की रिस्पेक्ट करें. वह आप से जानकर दूर नहीं है, उस के अपने भी कुछ कर्तव्य, लक्ष्य और जिम्मेदारियां हैं इस बात को समझें. हमेशा शिकायत कर के उसे गिलटी फील न कराते रहें.