कोई भी विवाद कैनेडा-अमेरिका संबंधों को नहीं बिगाड़ सकताः प्रधानमंत्री

0
831

औटवाः केंद्र सरकार ने घोषणा कि है की कोई भी विवाद कैनेडा-अमेरिका संबंधों को नहीं बिगाड़ सकता। इसके लिए उस विवाद को सुलझाया जाएगा। गौरतलब हैं कि वानिकी कर्मचारियों, लुमबर उत्पादकों द्वारा व्यापार में आ रही समस्याओं से दोनों देशों में विवाद गहराता जा रहा हैं। प्राकृतिक संसाधन मंत्री जिम कार के अनुसार इस विवाद की मुख्य जड़ रोजगार में कटौती करने से उत्पन्न हुई, जोकि अमेरिका द्वारा अपने उद्योगों में करनी आरंभ कर दी, अमेरिका द्वारा लुम्बर आयातों में 24 प्रतिशत तक कटौती की जोकि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के प्रशासनिक बदलावों के पश्चात हुई। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने लकड़ी और डेयरी व्यापार के मुद्दों को लेकर बिगड़ते रिश्तों के बीच कैनेडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडो से फोन पर बातचीत की। व्हाइट हाउस ने दोनों नेताओं के बीच कल हुई इस बातचीत को सौहार्दपूर्ण करार दिया। उन्होंने बयान में कहा, दोनों नेताओं ने न्यूयॉर्क और विभिन्न स्थानों पर डेयरी व्यापार को लेकर बातचीत की। उन्होंने अमेरिका में आ रही लकड़ी पर भी बातचीत की। यह वार्ता बेहद सौहार्दपूर्ण रही। अमेरिकी वाणिज्य विभाग के कनाडा से अमेरिका में निर्यात हो रही लकड़ी पर करीब एक अरब डॉलर का प्रतिकार शुल्क लगाने की जरूरत को रेखांकित करने के एक दिन बाद ट्रंप ने ट्रुडो से बातचीत की। इस सप्ताह को अमेरिकी-कैनेडा रिश्तों के लिए खराब करार देते हुए अमेरिकी वाणिज्य सचिव विल्बुर रोज ने कहा, यह सुचारू ढंग से मुक्त व्यापार समझौता करने का हमारा विचार नहीं है। ट्रंप ने दिन में पहले भी यह विश्वास दिलाया था कि इस विसकॉनसीन कदम से कैनेडा के साथ व्यापार युद्ध की स्थिति उत्पन्न नहीं होगी। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के साथ विवादास्पद स्थितियां पैदा होने के कारण स्वदेश लौट आएं हैं, माना जा रहा हैं कि यह विवाद अमेरिकी डेरी उत्पदकों के कारण हुआ हैं, इसमें कहा गया कि कैनेडियन डेरी उद्योग हमें समर्थन नहीं दे रही, ऐसा कहना अमेरिका के किसानों का हैं। और न्यूयॉर्क के गर्वनरों को लिखें पत्र में राजदूत डेविड मकनॉघटन ने कहा कि कैनेडा की नई डेरी नीतियों के कारण अमेरिका के डेरी किसानों को आर्थिक हानि हो रही हैं जिसके कारण वह इस नीति को स्वीकार नहीं कर रहे और कैनेडियन डेरी उद्योग में कलह का माहौल फैला हुआ हैं। गत कुछ दिनों पूर्व ट्रम्प के नए बयान द्वारा भी कैनेडा के साथ सख्ती करने का निर्णय लेने की बात कही गई, जोकि विचारणीय हैं। उत्तरी डेरी किसानों द्वारा कैनेडा के निर्णय पर हैरानी जताई गई, जिसके लिए राष्ट्रपति ट्रम्प ने स्वयं यह निर्णय लिया, जिससे सभी हैरानी में आ विसकॉनसीन गए हैं, गौरतलब हैं कि अभी सीमा विवाद सुलझा भी नहीं था कि इस प्रकार का बयानों से स्थितियां और अधिक खराब हो रही हैं। इसके अलावा ट्रम्प ने अभी मुक्त व्यापार व्यवस्था पर भी टिप्पणी कर उसे उचित नहीं ठहराया, ट्रम्प के संदेश से पूरी दुनिया में हड़कंप मच गया हैं कि बाय अमेरिकनष् हायर अमेरिकन इससे सभी अमेरिका वासी केवल अमेरिका के उत्पाद ही खरीदें और रोजगार भी केवल अमेरिका वासियों को दें। जिससे अमेरिका में रह रहे प्रवासियों पर खतरे की तलवार मंडरा रही हैं। वैसे अभी कैनेडा ने किसी भी डेरी उत्पाद के आयात पर प्रतिबंद्ध नहीं लगाया हैं, अमेरिकन जानकारों के अनुसार स्थितियां और अधिक भयानक हो सकती हैं। सबसे अधिक विचार अत्यधिक उत्पाद पर हैं जिसे कैनेडा में किया जा सकता हैं, परन्तु अमेरिका में नहीं। विसकॉनसीन में डेरी किसान मांग कर रहे हैं कि सभी को इस उद्योग में साझेदार बनाया जाएं और यही नीति कैनेडा को अपनानी चाहिए।