शरीर के लिए ‘अमृत’ माने जाते हैं वेजिटेबल जूस

0
74
Photo: Pixabay

आहार विशेषज्ञ, सब्जियों और फलों के नियमित सेवन को काफी स्वास्थ्यवर्धक बताते हैं। विशेषकर यदि आप नियमित रूप से सब्जियों के जूस के सेवन की आदत बनाते हैं तो यह काफी फायदेमंद हो सकता है। सब्जियों के जूस आपके सिस्टम को पोषक तत्वों और एंटीऑक्सिडेंट्स की आवश्यक मात्रा प्रदान करते हैं। यह न केवल स्वाद में आपके लिए काफी अच्छे माने जाते हैं साथ ही सब्जियों की पोषकता आपको कई प्रकार की बीमारियों से सुरक्षित रखने में भी सहायक है। वेजिटेबल जूस के लिए आप कई प्रकार की मौसमी सब्जियों और साग को शामिल करके स्वास्थ्य लाभ प्राप्त कर सकते हैं।
स्वास्थ्य विशेषज्ञ कहते हैं, कच्ची, ताजी सब्जियों को सभी लोगों को अपने दैनिक आहार का हिस्सा जरूर बनाना चाहिए। जूस के रूप में इसका सेवन करना आपके लिए काफी बेहतर विकल्प हो सकता है। हालांकि इस बात का हमेशा ध्यान रहे कि ताजी सब्जियों के जूस के ही लाभ हैं, फ्रोजन या डिब्बाबंद जूस को ज्यादा फायदेमंद नहीं माना जाता है। इसलिए रोजाना हरी-ताजी सब्जियों के जूस के सेवन की आदत बनाएं। आइए जानते हैं कि आहार में किन सब्जियों के मिक्स जूस के शामिल करके बेहतर लाभ प्राप्त किया जा सकता है?

गाजर का जूस:
गाजर के जूस को सेहत के लिए कई प्रकार से लाभकारी माना जाता है। गाजर अपने थोड़े मीठे स्वाद और प्रभावशाली पोषक तत्व के कारण हमेशा से पसंद किया जाता रहा है। इसमें कैलोरी कम होने के साथ विटामिन ए, बायोटिन और पोटेशियम की अधिकता होती है जो शरीर को स्वस्थ और फिट बनाए रखने के लिए अति आवश्यक है। गाजर आंखों और हृदय की सेहत के लिए काफी फायदेमंद माने जाते रहे हैं।

चुकंदर के जूस का सेवन:
शरीर की शक्ति को बढ़ावा देने के लिए चुकंदर के जूस को हमेशा से सर्वोत्तम विकल्प के रूप में जाना जाता है। पोषण के मामले में, चुकंदर मैंगनीज, पोटेशियम और फोलेट से भरपूर होते हैं। इसके अलावा इनमें नाइट्रेट्स की भी उच्च मात्रा पाई जाती है।अध्ययनों से पता चलता है कि नाइट्रेट से भरपूर चुकंदर का रस रक्तचाप को कंट्रोल रखने के साथ शरीर में खून की कमी को दूर करने और एथलेटिक तथा मानसिक प्रदर्शन में सुधार करने में सहायक होता है।

ब्रोकली का जूस:
ब्रोकोली को सेहत के लिए सबसे फायदेमंद सब्जियों में से एक माना जाता रहा है। इसमें पोटेशियम और विटामिन ए, बी 6, तथा सी जैसे प्रमुख सूक्ष्म पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो शरीर के संपूर्ण कार्यों के लिए अत्यंत आवश्यक हैं। ब्रोकली में केम्पफेरोल भी पाया जाता है जो एक शक्तिशाली यौगिक है और रोग पैदा करने वाले मुक्त कणों को बेअसर करके, सूजन को कम करने में मदद करता है। टेस्ट-ट्यूब अध्ययन में इसे कैंसर कोशिकाओं की वृद्धि को कम करने के लिए भी काफी लाभकारी पाया गया है।