क्या नारियल तेल सच में ज़हर है?

0
539

नारियल का तेल, खाने के लिहाज़ से स्वास्थ्य के लिए अच्छा बताया जाता है. लेकिन एक नई खोज ने नारियल तेल खाने वाले लोगों के मन में संशय पैदा कर दिया है.
दरअसल हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में टीएच चैन स्कूल ऑफ़ पब्लिक हेल्थ के प्रोफ़ेसर कैरिन मिशेल्स ने दावा किया है कि नारियल तेल खाने में इस्तेमाल होने वाली सबसे बुरी चीज़ों में से एक है.
“कोकोनट ऑयल एंड न्यूट्रीशनल एरर” पर एक लेक्चर देते हुए हार्वर्ड के प्रोफ़ेसर मिशेल्स ने नारियल तेल को पूरी तरह ज़हर बताया है. उन्होंने कहा, इस तेल में सेच्युरेटेड फ़ैट की मात्रा बहुत अधिक होती है जो सेहत के लिए हानिकारक है.
मिशेल्स का कहना है कि सेच्युरेटेड फ़ैट की इतनी अधिक मात्रा हमारी धमनियों में खून का प्रवाह रोक सकती हैं. इससे दिल संबंधित बीमारियों का ख़तरा बढ़ जाता है.
सेच्युरेटेड फ़ैट बहुत ज़्यादा
कुछ महीनों पहले डॉक्टर माइकल मोस्ले ने बीबीसी के लिए नारियल तेल पर एक रिसर्च की थी. माइकल मोस्ले साइंस जर्नलिस्ट हैं, उन्होंने मेडिसिन और सांइस पर बीबीसी के लिए काफ़ी काम किया है. इस रिसर्च में उन्होंने पाया कि लोगों के बीच यह आम धारणा है कि नारियल का तेल स्वास्थ्य के लिहाज़ से बहुत अच्छा होता है.
ऐसा कहा जाता है कि हॉलीवुड एक्ट्रेस एंजोलिना जोली अपने ब्रेकफ़ास्ट में नारियल तेल का सेवन करती हैं.
लेकिन नारियल तेल फ़ायदेमंद है या नहीं, इसे लेकर बहस काफ़ी वक़्त से चल रही है. कई वैज्ञानिक इसे हानिकारक फ़ैट से भरा हुआ बताते हैं.
भारत में हैदराबाद स्थित नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ न्यूट्रिशन (एनआईएन) में डिप्टी डायरेक्टर डॉक्टर अहमद इब्राहिम ने नारियल तेल के बारे में बीबीसी को बताया कि इसमें लगभग 90 प्रतिशत सेच्युरेडेट फ़ैट होता है.
डॉ. माइकल ने जो रिसर्च बीबीसी के लिए की, उसमें भी उन्होंने यह तथ्य पाया है. उनके मुताबिक़ नारियल तेल में पाया जाने वाला सेच्युरेडेट फ़ैट मक्खन से अधिक है. नारियल में 86 प्रतिशत सेच्युरेडेट फ़ैट है जबकि मक्खन में 51 प्रतिशत होता है.
सवाल उठता है कि आखिर सेच्युरेटेड फ़ैट वाले खाने से क्या नुकसान हो सकता है?
वैज्ञानिकों के मुताबिक, सेच्युरेटेड फ़ैट शरीर में गु़ड और बैड दोनों तरह के कोलेस्ट्रोल को बढ़ाता है. लेकिन दोनों का असर शरीर पर अलग-अलग पड़ता है.