वज़न बढ़ने के प्रमुख कारण

0
145
Photo: Pexels

1. खान–पान : Weight बढ़ने का सबसे प्रमुख कारण होता है हमारा खान-पान. यदि हमारे खाने में कैलोरी की मात्र अधिक होगी तो वज़न बढ़ने के chances ज्यादा हो जाते हैं. अधिक तला-भुना , fast-food, देशी घी, cold-drink आदि पीने से शरीर में ज़रुरत से ज्यादा calories इकठ्ठा हो जाती हैं जिसे हम बिना extra effort के burn नहीं कर पाते और नतीजा हमारे बढे हुए वज़न के रूप में दिखाई देता है. यदि आप इस बात की जानकारी रखें कि आपके शरीर को हर दिन कितने कैलोरी की आवश्यकता है और उतना ही consume करें तो आपका weight नहीं बढेगा.

2. Inactive होना : अगर आपकी दिनचर्या ऐसी है कि आपको ज्यादा हाथ-पाँव नहीं हिलाने पड़ते तो आपका weight बढ़ना लगभग तय है. ख़ास तौर पर जो लोग घर में ही रहते हैं या दिन भर कुर्सी पर बैठ कर ही काम करते हैं उन्हें जान-बूझ कर अपनी daily-life में कुछ physical activity involve करनी चाहिए. जैसे कि आप lift की जगह सीढ़ियों का प्रयोग करें, अपने interest का कोई खेल खेलें , जैसे कि badminton, table-tennis, इत्यादि. यदि आप एक treadmill या एक gym cycle afford कर सकें और उसे नियमित रूप से प्रयोग करें तो काफी लाभदायक होगा. वैसे सबसे सस्ता और सरल उपाय है कि आप रोज़ कुछ देर टहलने की आदत डाल लें.

3. अनुवांशिक(Genetics) कारण: यदि आपके माता-पिता में से किसी एक का भी वज़न बहुत ज्यादा है तो आपका वज़न भी ज्यादा होने की सम्भावना बढ़ जाती है. इसके आलावा genetics का असर आपको कितनी भूख लगती है, आपके शरीर में कितना far और muscle है , पर भी पड़ता है. यह व्यक्ति के metabolic rate और उसका शरीर inactive होने पर कितनी कैलोरी जलाता है इस पर भी प्रभाव डालता है.

4. Age : उम्र के साथ weight का बढ़ना एक स्वाभाविक प्रक्रिया है, ऐसा इसलिए होता है क्योंकि जैसे जैसे age बढती है हमारी मान्श्पेशियाँ fat में convert होती जाती हैं. Fat की मात्र बढ़ने के कारण diabetes और hypertension होने का खतरा बढ़ जाता है. उम्र बढ़ने के साथ साथ हमारी मेटाबोलिस्म में भी कमी आ जाती है , इस वजह से औरतों में वज़न बढ़ने की सम्भावना बढ़ जाती है.

5. Gender: आपका स्त्री या पुरुष होना भी आपके weight पर असर डालता है.आमतौर पर स्त्रीयां पुरुषों से कम calories use करती हैं , इसलिए उनका वज़न बढ़ने की सम्भावना ज्यादा होती है. स्त्रीयों के body में fat की मात्रा पुरुषों की अपेक्षा अधिक होती है. एक normal weight की स्वस्थ्य स्त्री के शरीर में 25% fat content होता है जबकि ऐसे ही एक पुरुष में यह मात्र सिर्फ 15% होती है.

6. मनोवैज्ञानिक कारण : कई बार weight बढ़ने का कारण psychological होता है. Emotional problems, या depression की वजह से व्यक्ति ज्यादा खाने-पीने लगता है.जिस वजह से वज़न बढ़ जाता है.

7.गर्भावस्था : Pregnancy के दौरान weight का बढ़ना एक सामान्य प्रक्रिया है. आमतौर पर किसी महिला का वज़न 5 से 10 किलो तक बढ़ जाता है, जो कि शिशु कप पोषण पहुंचाने के लिए ज़रूरी है.

8. दवाईयां : कुछ ख़ास तरह की दवाईयां आपका weight बढ़ा सकती हैं. जैसे कि antidepressants या corticosteroids. Birth Control pills खाने से भी वज़न ढाई किलो तक बढ़ सकता है.

9. बीमारी : बीमारी में भी weight बढ़ सकता है, क्योंकि इस दौरान इंसान की गतिविधियाँ बहुत कम हो जाती हैं, और body में fat बढ़ सकता है.

10.Smoking छोड़ने पर: सिग्रेट पीना छोड़ने के बाद व्यक्ति का वज़न 3-4 किलो तक बढ़ सकता है. पर smoking quit करने पर होने वाले फायदे इसकी अपेक्षा कहीं अधिक हैं, इसलिए इसे छोड़ने में ही भलाई है 🙂