इतना बुरा भी नहीं है चौकलेट

0
207

चौकलेट खाने से शरीर में दर्द का एहसास कम करा कर प्रसन्नता का अनुभव कराने वाले हार्मोन एंडोर्फिंन उत्सर्जित होने लगता है जो कि तनाव आदि की स्थिति में भी हमारे शरीर में प्राकृतिक दर्द निवारक का काम करता है. इसके अलावा बहुत-से अन्य रोगों में भी चौकलेट लाभ पहुंचाता है.

हृदय रोग में सहायकः चौकलेट हृदय रोग से लड़ने में भी सहायक हो सकती है. चौकलेट में ऑक्सीकरणरोधी फ्लेवोनायड होता है जो कि रक्त को पतला बना कर धमनियों में उसके थक्के बनने से रोकता है. जिससे हृदयाघात की आशंका कम हो जाती है.

रक्तचाप में लाभकारी :चौकलेट के स्वास्थ्य पर पड़ने वाले प्रभावों के संदर्भ में किए गए कुछ अध्ययन बताते हैं कि गहरे रंगों वाली चौकलेट खाने से स्वस्थ लोगों के रक्तचाप में कमी आती है और इंसुलिन के प्रति उनकी संवेदनशीलता बढ़ जाती है. शोधकर्ताओं का मानना है कि गहरे रंग की चौकलेट में बड़ी मात्रा में मौजूद फ्लेवोनायड अपने एंटी औक्सीडेंट गुणों की वजह से धमनियों को सुरक्षा प्रदान करते हैं. अध्ययन बताते हैं कि गहरे रंग की चौकलेट धमनियों के फैलने की क्षमता को बढ़ाती है और प्लेटलेटं के जमाव को कम कर देती है.

खांसी को दूर भागने में उपयोगी : लंबे समय से खांसी की परेशानी झेलने वाले लोगों के लिए आसान इलाज. चौकलेट खाइए, खांसी दूर भगाइए. लंदन के चिकित्सा शोधकर्ताओं ने कोको में मिलने वाले थियोब्रोमाइन तत्व से भरपूर ऐसी चौकलेट तैयार की है जिसके सेवन से पुरानी खांसी से छुटकारा पाया जा सकता है. एक शोध में पता लगाया है कि थियोब्रोमाइन खांसी से राहत दिलाने में विशेष समझे जाने वाले क्वकोडीनं से भी 3 गुना अधिक प्रभावशाली होता है.

अतिसार का उपचार में कारगर : हाल ही में किए गए एक वैज्ञानिक अध्ययन में पता चला है कि अतिसार या दस्त की परेशानी से निजात दिलाने में भी चौकलेट का सेवन बहुत कारगर होता है. दरअसल चौकलेट में उपस्थित फ्लेवोनायड अतिसार की रोकथाम में उल्लेखनीय कार्य करता है तथा चौकलेट बनाने के लिए प्रयुक्त होने वाली की फलियां इस स्वास्थ्यवर्धक फ्लेवोनायड से भरपूर होती हैं. एक शोध दल ने चौकलेट में पाए जाने वाले फ्लेवोनायड तथा आन्तों पर पड़ने वाले उसके प्रभाव का अध्ययन करते हुए पाया है कि कोकोआ में उपस्थित फ्लेवोनायड अतिसार में भी असरदार भूमिका निभाता है. माना जा रहा है कि इस खोज से अतिसार के उपचार हतु और भी अच्छी औषधियों के निर्माण में सहायता मिले सकेगी.

सुंदरता के लिए चौकलेट का उपयोग : सुंदरता बढ़ाने के लिए चौकलेट के प्रयोग की बात खासतौर पर महिलाओं को बहुत खुश कर देगी. फ्रांस की राजधानी पेरिस के ब्यूटी पार्लरों में सुंदरता के लिए चौकलेट की मसाज (मालिश) की जाती है. यहां के कुछ थैरेपिस्टों का मानना है कि चौकलेट में एंटी एजिंगं कारक होते हैं जिनसे चेहरे की झुर्रियां कम हो जाती हैं और इसके साथ-साथ शरीर में चुस्ती-फूर्ति भी आती है. चौकलेट मसाज करने-वाले लोगों का मानना है कि इससे शरीर के सभी अंगों को आराम मिलता है और दिनभर ताजगी भी रहती है. इस मसाज के लिए चौकलेट के टब में डुबकी लगानी पड़ती है.