किम जोंग-उन को ट्रंप इतनी तवज्जो क्यों दे रहे

0
325

फ्लैश चमकाते और दुनिया भर में सीधी तस्वीरें भेजते कैमरे. उनका फ़ोकस चेहरे पर मुस्कुराहट लिए उन दो लोगों पर था, जिनकी अचानक हुई मुलाक़ात पूरी दुनिया का ध्यान खींच रही थी.

इनमें से एक थे उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन.

गर्मजोशी के साथ ट्रंप का स्वागत करते हुए किम जोंग उन ने कहा, “मैंने कभी सोचा नहीं था कि आपसे यहां मुलाक़ात होगी.”

उत्साहित किम ने आगे कहा, “राष्ट्रपति ट्रंप ने अभी विभाजन रेखा पार की. इसके मायने ये हैं कि वो पहले अमरीकी राष्ट्रपति हैं जो हमारी ज़मीन पर आए हैं.”

इस अप्रत्याशित और नाटकीय मुलाक़ात की पहल करने वाले अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप भी उतने ही उत्साहित थे.

किम जोंग उन का हाथ थामे डोनल्ड ट्रंप बोले, “मैं सिर्फ़ ये कहना चाहता हूं कि ये मेरे लिए सम्मान की बात है. ये एक उम्दा दोस्ती की मिसाल है. मैं आपको शुक्रिया कहना चाहता हूं.”

जी-20 सम्मेलन में हिस्सा लेने जापान गए ट्रंप ने ट्विटर पर संदेश भेजकर किम जोंग उन को इस मुलाक़ात का न्योता दिया था.

उत्तर कोरिया की ज़मीन पर क़दम रखने के बाद ट्रंप किम जोंग उन के साथ दक्षिण कोरिया लौटे. ये मुलाक़ात सिर्फ़ हाथ मिलाने तक सीमित रहनी थी लेकिन जब दोनों नेता ‘फ्रीडम हाउस’ नाम की इमारत में साथ बैठे तो मीटिंग एक घंटे तक चली.

नतीजा ये रहा कि दोनों नेता उत्तर कोरिया के परमाणु मुद्दे पर फ़रवरी में ठप हो गई बातचीत बहाल करने की संभावना तलाशने पर तैयार हो गए.