20 हजार स्टूडेंट्स पर खुन्नस निकाल रहा है चीन, बदले में भारत ने भी रद्द कर दिया चीनियों का टूरिस्ट वीजा

0
419
Photo: TFI Post

नई दिल्ली: चीनी नागरिक अब पर्यटन वीजा पर भारत नहीं आ पाएंगे। दुनियाभर में एयरलाइंस के संचालन पर नजर रखने वाली संस्था अंतरराष्ट्रीय हवाई परिवहन संघ (IATA) ने कहा है कि चीनी नागरिकों को जारी किए गए भारतीय पर्यटन वीजा वैध नहीं रह गए हैं। चीनी पर्यटकों को भारत की यात्रा पर आने से रोकने का फैसला, भारत की तरफ से चीन को मुंहतोड़ जवाब के रूप में देखा जा रहा है। चीन उन 20 हजार भारतीय छात्रों को वापस आने की अनुमति देने से कतरा रहा है जो कोविड-19 महामारी के कारण भारत आ गए थे। बहरहाल, शीर्ष सरकारी अधिकारियों ने कहा कि भारत चीनियों को कारोबारी, रोजगार, कूटनीतिक और आधिकारिक वीजा अब भी जारी कर रहा है।

चीन ने किया भेदभाव तो भारत ने दे दिया जवाब
चीन में कोविड-19 महामारी की नई लहर से जूझ रहा है। फिर भी वह थाइलैंड, पाकिस्तान और श्रीलंका के विद्यार्थियों को आने की अनुमति दे चुका है, लेकिन भारत के हजारों स्टूडेंट्स अब भी बीजिंग की हामी का इंतजार कर रहे हैं। भारतीय विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने चीनी समकक्ष वांग यी के सामने भी यह मुद्दा उठाया था जब वो पिछले महीने भारत दौरे पर आए थे। हालांकि, चीन ने अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। भारत ने पिछले महीने 156 देशों के लिए इलेक्ट्रॉनिक टूरिस्ट वीजा की सुविधा दुबारा बहाल कर दी थी। भारत ने कोविड के कारण दो वर्षों के बाद 27 मार्च से अंतरराष्ट्रीय उड़ानें शुरू की हैं।