दुनिया में लॉकडाउन के नियम: कुछ अजीब, तो कुछ बहुत महंगे

0
562

कोरोना का असर लगभग पूरी दुनिया पर देखा जा सकता है, ऐसे इससे बचने के लिए 90 देशों में लॉकडाउन किया गया है और करीब 180 देशों के स्कूल कॉलेज बंद किए गए हैं। लॉकडाउन और कर्फ्यू के चलते लोगों कई दिनों से अपने घरों में कैद रहने को मजबूर हैं, तो कुछ लोग इन लॉक डाउन का उल्लंघन भी करने की कोशिश कर रहें हैं, ऐसे में इसके लिए कड़े नियन बनाना काफी ज़रूरी हो जाते हैं। तो आइए जानते हैं कुछ कड़क और कुछ अजीब नियमों के बारे में।

फिलीपींस में क्वारेंटाइन का नियम न मानने वालों को गोली मारने का आदेश:
फिलीपींस के राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते ने क्वारेंटाइन का उल्लंघन करने वालों को गोली मारने के आदेश दिए हैं। इन्होंने कहा उनके देश की स्वास्थ्य व्यवस्था इतनी मज़बूत नहीं है कि वह इससे उभर सकें, इसलिए वह इसे रोकने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं।

इस कंट्रीज में 2.5 लाख से लेकर 1 करोड़ तक का जुर्माना:
इटली में बिना वजह बाहर घूमने पर 2.5 लाख का जुर्माना और लोम्बार्डी में 4 लाख के जुर्माने का प्रावधान है। लोम्बार्डी में अभी तक करीब 40 हज़ार लोगों पर या जुर्माना लगाया भी जा चुका है। वहीं हांगकांग में क्वारेंटाइन का उल्लंघन करने पर 2.5 लाख का जुर्माना या 6 महीने की जेल का प्रावधान है। ऑस्ट्रेलिया में कुछ जगहों पर में 23 लाख और सऊदी अरब में बीमारी और ट्रैवल हिस्ट्री छिपाने पर 1 करोड़ रु. के जुर्माने का प्रावधान किया है। यह दुनिया में सबसे अधिक है।

रूस में 7 साल और मैक्सिको में 3 साल की जेल का प्रावधान है:
रूस में क्वारेंटाइन के नियम तोड़ने पर 7 साल तक की सजा का प्रावधान है। वहीं मैक्सिको में बीमारी छिपाने पर 3 साल तक की सजा होगी सकती है।

कोलंबिया में आईडी नंबर से तय होगा बाहर जाना:
कोलंबिया के कुछ कस्बों में नेशनल आईडी के नंबर से तय किया जाएगा के कौन कब अपने घर से बाहर निकलेगा।

पनामा में महिला-पुरुष दोनों अलटरनेट डेज में घर से निकल सकते हैं:
पनामा में घर से निकलने के लिए महिला-पुरुष के लिए अलग-अलग दिन निर्धारित किया है। महिलाएं सोमवार, बुधवार और शुक्रवार जबकि पुरुष मंगलवार, गुरुवार और शनिवार को सिर्फ दो घंटे के लिए घर से बाहर निकल सकती हैं।

ऑस्ट्रिया में लोग निर्वस्त्र घूम सकते हैं लेकिन मास्क पहनना अनिवार्य:
ऑस्ट्रिया में सार्वजनिक जगहों पर मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया है। चेक रिपब्लिक गवर्नमेंट में लोगों से कहा है, आप भले ही सड़कों पर निर्वस्त्र घूमें लेकिन मास्क लगाना ज़रूरी।