केरल: 900 निवेशकों से 1200 करोड़ की धोखाधड़ी

0
37
Photo: Finance Monthly

प्रवर्तन निदेशालय ने केरल के एक व्यवसायी की संपत्ति कुर्क की है, जिसने कथित तौर पर 900 से अधिक निवेशकों को क्रिप्टोकरेंसी की पेशकश के नाम पर 1,200 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की। जांच एजेंसी द्वारा निषाद के और उसके सहयोगियों के खिलाफ कार्रवाई की गई है, जिन्होंने कथित तौर पर ‘मॉरिस कॉइन क्रिप्टोकरेंसी’ लॉन्च करने के नाम पर जमाकर्ताओं को झांसा दिया था।

36.72 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क
प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग (पीएमएलए) के तहत उन संपत्तियों को कुर्क करने के लिए एक आदेश जारी किया गया है, जिसमें निषाद के और उसकी कंपनियों के कई बैंक खातों में शेष राशि, अचल संपत्ति शामिल है। इसमें निषाद के करीब एक सहयोगी की जमीन और एक करीबी सहयोगी द्वारा अपराध की आय से खरीदी गई क्रिप्टोकरेंसी भी शामिल है। कुर्क की गई संपत्ति का कुल मूल्य 36.72 करोड़ रुपये से अधिक है।

एजेंसी ने कहा, निषाद के लॉन्ग रिच ग्लोबल, लॉन्ग रिच टेक्नोलॉजीस और मॉरिस ट्रेडिंग सॉल्यूशंस जैसी अपनी कंपनियों के माध्यम से मॉरिस कॉइन क्रिप्टोकरेंसी के लॉन्च के लिए शुरुआती सिक्के की पेशकश की आड़ में निवेशकों से राशि एकत्र की। ईडी ने एक बयान में कहा कि मशहूर हस्तियों की उपस्थिति में प्रचार कार्यक्रम आयोजित करके निवेशकों को आकर्षित किया गया और वेब-आधारित एप्लीकेशन के माध्यम से हर निवेशक को ई-वॉलेट के प्रावधान द्वारा आकर्षक वेबसाइट दिखाकर झांसा दिया गया।