थकान को ना करें अनदेखा, हो सकती हैं ये 5 बीमारियां

0
250

थकान को हमेशा ज्यादा काम करने या नींद ना पूरी होने से जोड़ कर हम ना तो डाक्टर से सलाह लेते है और ना हि इसके बारे में विचार करते है बल्कि इसको अनदेखा कर देते है पर क्या आप जानते है की थकान होना किसी बीनारी का संकेत भी हो सकता हैं.

थकान एक ऐसी समस्या है जो आज के समय में सभी उम्र के लोगों मे देखने को मिलती हैं. किसी काम में मन नही लगना या फिर शरीर में सुस्ती रहने से लाइफ में ज्यादा मजा नही रह जाता हैं. अधूरी नींद या तनाव से होने वाली थकान, पूरी नींद लेने से खत्म हो जाती है पर थकान अगर किसी बीमारी की वजह से है तो वो आसानी से ठीक नहीं होती. थकान को हमेशा ज्यादा काम करने या नींद ना पूरी होने से जोड़ कर हम ना तो डाक्टर से सलाह लेते है और ना हि इसके बारे में विचार करते है बल्कि इसको अनदेखा कर देते है पर क्या आप जानते है की थकान होना किसी बीनारी का संकेत भी हो सकता हैं. आज हम आपको बताएंगे की थकान से जुड़ी कौन कौन सी समस्या हो सकती हैं.
सेहत

थायराइड भी हो सकता है कारण

थायराइड हौर्मोन का स्तर कम होने पर भी शरीर की ऊर्जा का स्तर बिगड़ सकता है. सामान्य तौर पर थायराइड की समस्या औरतों को होती हैं, मगर कई बार ये दिक्कत पुरुषों को भी आ सकती है. पुरुषों में अगर ऐसी समस्या होती है तो समय पर ध्यान देना जरुरी है वरना ये गंभीर समस्या भी हो सकती है.

टेस्टोस्टेरोन का रखे ध्यान

टेस्टोस्टेरोन नाम के हौर्मोन का स्तर पुरुषों में वयस्कता और किशोरवस्था के प्रारंभिक चरणों में सबसे अधिक सक्रिय होता है. जैसे-जैसे पुरूषों की उम्र बढ़ती है खासकर जब उनकी उम्र 40 के आसपास होती है तो, उनके टेस्टोस्टेरोन का स्तर प्रति वर्ष 1% कम होता जाता है. साफ तौर पर नही कहा जा सकता है की इस हौर्मोन के गिरने की वजह क्या है, उम्र बढ़ने की वजह से इसका स्तर गिर रहा है या ह्य्पोगोनाडिस्म जैसी बीमारी भी इसकी वजह हो सकती है.टेस्टोस्टेरोन में गिरावट से सेक्स ड्राइव यानि सेक्स में रुचि कम हो जाती है और नींद संबंधी विकार भी हो सकते हैं, जो थकान और कम ऊर्जा के लिए भी जिम्मेदार होते हैं. इसलिआए अगर अपमें भी ऐसे कोई लक्षण दिख रहे है तो इसको अनदेखा ना करें.

कही डिप्रेशन ना हो इस समस्या का कारण

आज के दौर में किसी को भी डिप्रेशन हो सकता है. डिप्रेशन के लक्षण में उदासी ,सुस्त रहना, निराश रहना, नींद ना आना , किसी काम में मन न लगना और ऊर्जा स्तर भी कम हो सकता है. जिसे भी डिप्रेशन की समस्या हो उसे अपना इलाज़ जरूर कराना चाहिए वरना यह खतरनाक हो सकता है और यहां तक कि मरीज आत्महत्या की भी कोशिश कर सकता है.

नींद संबंधी बीमारी होना

नींद न आना या नींद की गुणवत्ता की कमी के कारण भी ऊर्जा के स्तर में कमी आती है. कम ऊर्जा के स्तर के लिए नींद भी जिम्मेदार होती है अगर आप नाईट शिफ्ट करते हैं, देर रात तक जागते हैं तो भी ये दिक्कत आती है. ये एक समान्य बात है क्योंकि आज के इस व्यास्थ में समय में लोग काम में ज्यादा परेशान रहते हैं.

अच्छा खाना और एक्सरसाइज ना करना

व्यायाम और सही खान-पान की कमी के कारण भी थकान और ऊर्जा का स्तर कम हो सकता है. नियमित रूप से व्यायाम करने से अच्छी नींद आती है और जीवनशैली में भी सुधार आता है. सही और पौष्टिक आहार सबके लिए जरुरी है मगर इस समस्या में इसका खास ध्यान रखना चाहिए. आप इन बातों पर ध्यान रखें जिससे आप इन समस्या से परेशान ना हो.

तो ये है थकान के कुछ कारण किसे अनदेखा करना आपके लिए खतरनाक हो सकता हैं.